फल, सब्जियों के दाम गिरने से खुदरा मंहगाई नौ महीने के निचले स्तर पर

नयी दिल्ली:

 

सब्जियों और फलों की कीमतों में आई गिरावट से जुलाई महीने में खुदरा मंहगाई घटकर 4.17 प्रतिशत रह गई। पिछले नौ महीने में यह इसका सबसे निचला स्तर है।

 

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार जून महीने की उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित (सीपीआई) मुद्रास्फीति भी घटकर 4.92 प्रतिशत रह गई है। इससे पहले जारी आंकड़ों में यह पांच प्रतिशत पर थी।

 

इससे पहले का निम्न स्तर अक्तूबर, 2017 में 3.58 प्रतिशत रहा था।

 

सीएसओ के आंकड़ों के अनुसार बीते माह सब्जियों की महंगाई घटकर शून्य से 2.19 प्रतिशत नीचे आ गई। जून में यह 7.8 प्रतिशत पर थी।

 

इसी तरह फलों की मुद्रास्फीति घटकर 6.98 प्रतिशत पर आ गई, जो इससे पिछले महीने 10 प्रतिशत से ऊपर थी।

 

आंकड़ों के अनुसार प्रोटीन वाले उत्पादों मसलन मांस, मछली और दूध की मुद्रास्फीति जुलाई में इससे पिछले महीने की तुलना में कम रही।

 

हालांकि, ईंधन और लाइट खंड की महंगाई बढ़कर 7.96 प्रतिशत हो गई, जो इससे पिछले महीने 7.14 प्रतिशत पर थी।

 

आर्थिक मामलों के सचिव एस सी गर्ग ने कहा कि सभी वृहद आर्थिक मानदंड बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘सीपीआई मुद्रास्फीति 4.17 प्रतिशत पर आ गई है जो रिजर्व बैंक के चार प्रतिशत के लक्ष्य के काफी करीब है। यह जून में पांच प्रतिशत थी। खाद्य मुद्रास्फीति सिर्फ 1.37 प्रतिशत रह गई है।’’

 

 

मूल्य के आंकड़े चुनिंदा शहरों से एनएसएसओ के फील्ड परिचालन विभाग द्वारा जुटाए गए। वहीं चुनिंदा गांवों से आंकड़े डाक विभाग ने जुटाए। मूल्य आंकड़े वेब पोर्टलों के जरिये प्राप्त किए जाते हैं और इनका रखरखाव राष्ट्रीय इन्फार्मेटिक्स केंद्र करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *