वुहान से 76 भारतीयों और 36 विदेशियों को भारत लाया वायुसेना का विमान

नई दिल्ली:

भारतीय वायुसेना का एक विमान कोरोना वायरस से प्रभावित चीन के वुहान शहर से 76 भारतीयों और 36 विदेशी नागरिकों को बृहस्पतिवार को भारत लेकर आया। सी-17 ग्लोबमास्टर III विमान चीन में कोरोना वायरस प्रभावित लोगों के लिए 15 टन चिकित्सकीय सामग्री लेकर बुधवार को वुहान भेजा गया था। विमान चीन से लौटते समय बांग्लादेश के 23 नागरिकों, चीन के छह नागरिकों, म्यामां एवं मालदीव के दो-दो और दक्षिण अफ्रीका, अमेरिका एवं मेडागास्कर के एक-एक नागरिक समेत 112 लोगों को लेकर आया।

इससे पहले, भारत एअर इंडिया के दो विमानों के जरिए वुहान से करीब 650 भारतीयों को लाया था।

विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘‘इन तीन उड़ानों के जरिए चीन से वुहान से कुल 723 भारतीय और 43 विदेशी नागरिकों को बाहर निकाला गया है।’’ विदेश मंत्रालय ने चीन में चिकित्सकीय आपूर्ति पहुंचाए जाने पर कहा कि भारत कोरोना वायरस संक्रमण को नियंत्रित करने के चीनी प्रयासों में उसकी मदद करेगा।

मंत्रालय ने कहा, ‘‘यह सहायता चीन के लोगों के प्रति भारत के लोगों की एकजुटता और मित्रता का भी प्रतीक है। दोनों देश इस साल राजनयिक संबंध स्थापित होने की 70वीं वर्षगांठ भी मना रहे हैं। ’’

निकाले गए 76 भारतीयों, 36 विदेशियों को आईटीबीपी केंद्र ले जाया गया

वुहान शहर से निकाले गए इन 76 भारतीयों और 36 विदेशियों को बृहस्पतिवार सुबह को अलग रखने के लिए आईटीबीपी के एक केंद्र में ले जाया जा रहा है।
भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘‘बचाए गए लोगों को हवाईअड्डे पर थर्मल जांच प्रक्रिया से गुजरना होगा जिसके बाद उन्हें छावला इलाके में हमारे केंद्र में अलग रखा जाएगा।’’

इससे पहले भारत ने वुहान से निकाले करीब 650 भारतीयों को आईटीबीपी के केंद्र और मानेसर में सेना के एक अलग केंद्र में रखा गया था। कोरोना वायरस की जांच में ये सभी लोग नेगेटिव पाए गए और उन्हें एक पखवाड़े से अधिक समय तक अलग रखे जाने के बाद घर जाने दिया गया।

आईटीबीपी प्रवक्ता ने बताया कि डॉक्टर, पराचिकित्सक तथा अन्य लोगों की टीम केंद्र में 24 घंटे मौजूद रहेगी और वहां रहने वाले लोगों को भोजन, बेड तथा समय बिताने के लिए अंदर मनोरंजन के साधन उपलब्ध कराए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *