एशियाई खेल: भारतीय कंपाउंड महिला और पुरूष तीरंदाजी टीमों को रजत

जकार्ता:

18वें एशियाई खेलों में भारतीय कंपाउंड तीरंदाजी टीमें आज स्वर्ण पदक जीतने में कामयाब नहीं हो सकीं और महिला एवं पुरूष दोनों ही वर्गों में कोरिया से हारकर उन्हें रजत से संतोष करना पड़ा।

पुरूष वर्ग के फाइनल में चार सेट के बाद भारतीय पुरूष (अभिषेक वर्मा, रजत चौहान और अमन सैनी) टीम कोरिया से एक अंक आगे थी लेकिन रिव्यू पर कोरिया ने एक अंक बना लिया ।

रिव्यू के बाद आखिरी सेट में कोरिया का एक नौ का स्कोर दस में बदल गया जिससे दोनों टीमों में 229-229 से टाई हो गया । शूटआफ में कोरिया ने एक इनर 10 , एक 10 और एक नौ अंक बनाया। वहीं भारत ने दो दस और एक नौ का स्कोर किया।

हार से निराश वर्मा ने कहा, ‘‘ आप ऐसे (करीबी) फाइनल के बारे में कुछ नहीं कह सकते। हवा की दिशा ने भी अहम भूमिका निभाई। आज हमारी किस्मत खराब थी।’’

 

 

भारतीय महिला टीम को भी रजत पदक से करना पड़ा संतोष

इससे पहले भारतीय महिला कम्पाउंड तीरंदाजी टीम फाइनल में दक्षिण कोरिया से हार गयी जिससे टीम को रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

मुस्कान किरार, मधुमिता कुमारी और ज्योति सुरेखा वेन्नाम की भारतीय टीम करीबी मुकाबले में कोरियाई टीम से 228-231 से हार गयी। मैच इतना रोमांचक था कि विजेता का फैसला आखिरी निशाने के बाद हुआ।

भारतीय टीम पहले सेट में 59-57 से आगे चल रही थी लेकिन कोरिया ने दूसरे सेट को 58-56 से अपने नाम किया। तीसरे सेट में दोनों टीमें 58-58 की बराबरी पर रही।

तीन सेट के बाद दोनों टीमें बराबरी पर थी लेकिन अंतिम सेट में भारतीय निशानेबाज दबाव में आ गये जिसका फायदा कोरिया को मिला और उन्होंने सेट 58-55 से जीत कर स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया।

महिला टीम ने चार साल पहले इन खेलों में कांस्य पदक हासिल किया था। चार साल में दूसरी बार पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा रही 22 साल की सुरेखा ने कहा, ‘‘ हमने अपने पिछले प्रदर्शन में सुधार किया है जो सकारात्मक बात है। हवा के कारण हमारी परेशानी हुई लेकिन हमने अच्छा खेल दिखाया। हम अपने प्रदर्शन से खुश है। केंन्द्र सरकार से हमें अच्छी मदद मिली।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *