छत्तीसगढ़ चुनाव: पहले चरण में नक्सलियों के बुलेट को मतदाताओं ने बैलेट से नकारा

रायपुर:

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के पहले चरण में राज्य की 18 सीटों पर सोमवार को रिकार्ड 76.28 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सोमवार को राज्य की बस्तर इलाके के सात जिले और राजनांदगांव जिले की कुल 18 सीटों पर हुए मतदान प्रतिशत का संशोधित आंकड़ा राज्य चुनाव कार्यालय ने मंगलवार को जारी किए। इससे पहले चुनाव आयोग ने सोमवार को कहा था कि पहले चरण की वोटिंग में 8 जिलों की 18 सीटों के लिए 70.08 प्रतिशत मतदान हुआ।

पहले चरण में सबसे अधिक डोंगरगांव में 85.15 फीसदी मतदाताओं और सबसे कम बीजापुर में 47.35 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। साल 2013 के विधानसभा चुनाव में इन 18 सीटों में 75.93 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था।

राज्य निर्वाचन अधिकारी सुब्रत साहू ने बताया कि सोमवार को 18 सीटों में से 10 सीटों पर सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक मतदान हुआ। इसमें मोहला-मानपुर में 80 फीसदी मतदाताओं ने, अंतागढ़ में 74.45 प्रतिशत, भानुप्रतापपुर में 76.77 प्रतिशत, कांकेर में 78.54 प्रतिशत, केशकाल में 81.32 प्रतिशत, कोण्डागांव में 82.84 प्रतिशत, नारायणपुर में 74.40 प्रतिशत, दंतेवाड़ा में 60.62 प्रतिशत, बीजापुर में 47.35 प्रतिशत और कोंटा में 55.30 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

नक्सल प्रभावित इलाकों में हुई ज्यादा वोटिंग

उन्होंने बताया कि आठ विधानसभा सीटों में सुबह आठ से शाम पांच बजे मतदान हुआ। इसमें खैरागढ़ में 84.31 प्रतिशत, डोंगरगढ़ में 82.53 प्रतिशत, राजनांदगांव में 78.66 प्रतिशत, डोंगरगांव में 85.15 प्रतिशत, खुज्जी में 84.48 प्रतिशत, बस्तर में 83.51 प्रतिशत, जगदलपुर में 78.24 प्रतिशत और चित्रकोट में 80.31 प्रतिशत मतदान हुआ। साहू ने बताया कि नक्सल प्रभावित इलाकों में ज्यादा मतदान हुआ है जबकि मैदानी क्षेत्रों में मतदान प्रतिशत कम रहा है। राज्य की इन 18 सीटों में वर्ष 2013 की तुलना में लगभग 0.5 फीसदी मतदान अधिक हुआ है।

राज्य के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के कोंटा विधानसभा क्षेत्र में वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में 48.36 फीसदी मतदान हुआ था। जबकि इस वर्ष वहां 55.30 फीसदी मतदान हुआ है। वहीं बीजापुर विधानसभा क्षेत्र में वर्ष 2013 में 45.01 फीसदी मतदान हुआ था जबकि इस बार 47.35 फीसदी मतदान हुआ है। नक्सल प्रभावित नारायणपुर विधानसभा क्षेत्र में वर्ष 2013 में 70.28 फीसदी मतदान हुआ था जो इस बार बढ़कर 74.40 फीसदी हो गया है।

छत्तीसगढ़ प्रथम चरण के मतदान के लिए सुरक्षाबल के लगभग सवा लाख जवानों को तैनात किया गया था। राज्य में चुनाव कार्य के लिए केंद्र से लगभग 65 हजार जवानों को यहां भेजा गया है। इसमें अर्धसैनिक बल और पुलिस बल के जवान शामिल हैं।

राज्य में 20 नवम्बर को शेष 72 सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे। वोटों की गिनती 11 दिसम्बर को होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *