‘धूर्त’ है चौकसी, उसे वापस भेजना ‘महज कुछ समय की बात’ : एंटीगुआ और बरबुडा के प्रधानमंत्री

न्यूयॉर्क:

पंजाब नेशनल बैंक से कथित धोखाधड़ी के मामले में फरार भारतीय कारोबारी मेहुल चौकसी को ‘धूर्त’ बताते हुए एंटीगुआ और बरबुडा के प्रधानमंत्री गेस्टन ब्राउन ने कहा है कि उसके सभी कानूनी विकल्प समाप्त हो जाने पर उसे भारत के हवाले कर दिया जाएगा । उन्होंने जोर दिया कि बैंक धोखाधड़ी के भगोड़े को वापस भेजना ‘महज कुछ समय की बात’ है।

पंजाब नेशनल बैंक से 13400 करोड़ रुपये की कथित धोखाधड़ी के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और सीबीआई को चोकसी और उसके भतीजे नीरव मोदी की तलाश है ।

उन्होंने ‘डीडी न्यूज’ से कहा, ‘‘मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि अंतत: उसकी सभी अपील समाप्त हो जाने के बाद उसे वापस भेज दिया जाएगा। उसके खिलाफ जो भी आरोप हों, उसका सामना करने के लिए उसे भारत प्रत्यर्पित कर दिया जाएगा। यह बस कुछ समय की बात है।’’ चोकसी के प्रत्यर्पण पर उन्होंने कहा, ‘‘वह कथित धूर्त है। हमें पता होता कि वह धूर्त है तो उसे एंटीगुआ की नागरिकता नहीं मिलती।’’

ब्राउन ने कहा कि चोकसी को आरोपों का सामना करने के लिए भारत वापस भेजा जाएगा क्योंकि वह कोई नैतिकता के साथ एंटीगुआ और बरबुडा नहीं आया ।

एंटीगुआ और बरबुडा के प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक सत्र में शिरकत करने न्यूयॉर्क आए हैं ।

पीएनबी से करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी का मामला 2018 की शुरूआत में सामने आया था। इसके बाद चोकसी और नीरव देश से भाग निकले। नीरव (48) वर्तमान में लंदन की जेल में है । ईडी ने जून में बंबई उच्च न्यायालय को बताया था कि वह चोकसी को भारत लाने के लिए ‘एयर एंबुलेंस’ मुहैया कराने को तैयार है ।

फिलहाल कैरेबियाई देश एंटीगुआ में रह रहे चोकसी ने उच्च न्यायालय को बताया था कि वह उपचार के लिए भारत से बाहर निकला था, मामले में मुकदमे से बचने के लिए नहीं। उसने कहा था कि यात्रा के लिए सेहतमंद हो जाने पर वह भारत लौट आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *