क्रिकेट विश्व कप: न्यूजीलैंड को हराकर 27 साल बाद इंग्लैंड पहुंचा सेमीफाइनल में

  • इंग्लैंड ने 27 साल बाद आईसीसी विश्व कप के सेमीफाइनल में बनाया स्थान
  • अंतिम ग्रुप मुकाबले में इंग्लैंड ने न्यूज़ीलैंड को 119 रन से हराया
  • पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने 8 विकेट पर 305 रन बनाए
  • न्यूज़ीलैंड की पूरी टीम 45 ओवर में 186 रन ही बना सकी
  • शतकीय पारी खेलने वाले जॉनी बेयरस्टो बने मन ऑफ द मैच

चेस्टर ली स्ट्रीट:

जानी बेयरस्टा के लगातार दूसरे शतक के बाद गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन की मदद से इंग्लैंड ने विश्व कप के एक अहम मुकाबले में न्यूज़ीलैंड को 119 रन से हराकर 27 साल बाद क्रिकेट विश्व कप के सेमीफाइनल में स्थान बना लिया है।

बुधवार को खेले गए अपने अंतिम ग्रुप लीग मुकाबले में इंग्लैंड के आठ विकेट पर 305 रन के जवाब में कीवी टीम 45 ओवर में 186 रन पर आउट हो गई । इंग्लैंड ने पिछली बार 1992 विश्व कप के सेमफाइनल में स्थान बनाया था। आस्ट्रेलिया और भारत अंतिम चार में पहले ही जगह बना चुके हैं ।

न्यूजीलैंड हार के बावजूद अभी विश्व कप मुकाबले से बाहर नही हुआ है। उधर पाकिस्तान को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिये अपने आखिरी मैच में फार्म में चल रही बांग्लादेशी टीम को 300 से अधिक रन के अंतर से हराना होगा ।

विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचने के उद्देश्य न्यूज़ीलैंड के खिलाफ इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी चुनी। जॉनी बेयरस्टो और जेसन रॉय ने टीम को तेज शुरुआत दी। दोनो ने पहले विकेट के लिए 123 रन की साझेदारी निभाई। इसी बीच जेसन रॉय ने अपना अर्धशतक पूरा किया। वो 60 रन बनाकर नीशम की गेंद पर आउट हुए। दूसरे छेर पर बेयरस्टो ने रूट के साथ मिलकर रन बनाना जारी रखा और अपना लगातार दूसरा शतक पूरा किया। रूट 24 रन बनाकर पवेलियन लौटे। बेयरस्टो की 106 रन की पारी का अंत मैच हेनरी ने उन्हे बोल्ड करके किया।

जोस बटलर और बेन स्टोक्स बड़ी पारी नही खेल पाए और 11-11 रन बनाकर आउट हो गए। कप्तान इयॉन मॉर्गन ने रन बनाना जारी रखा और 40 गेंद पर 42 रन की पारी खेली। अंतिम के 2 ओवर में आदिल राशिद की तेज बल्लेबाजी की मदद से इंग्लैंड ने निर्धारित 50 ओवर में 8 विकेट पर 305 रन बनाए।

जवाब में 306 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी जवाब में न्यूज़ीलैंड की शुरुआत अच्छी नही रही । हेनरी निकोल्स पहले ओवर की 5वीं गेंद पर बगैर कोी रन बनाए पवेलियन लौट गए। जोफ्रा आर्चर ने गप्टिल को 8 रन पर विकेट के पीछे कैच कराकर टीम को दूसरी सफलता दिलाई। विलियम्सन और रॉस टेलर ने पारी को संभालने की कोशिश की लेकिन दोनों बल्लेबाज़ एक के बाद एक ओवर में रन आउट हो गए और किवी बल्लेबाज़ी की रीढ़ टूट गई। हालाकी टॉम लैथम ने एक छोर पर संभल कर खेलते हुए अर्धशतक लगाकर टीम की जीत की उम्मीदो को बरकरार रखने की कोशिश की। हालाकी 57 के स्कोर पर उनको विकेट के पीछे कैच कराकर प्लंकेट ने कीवी टीम की जीत की उम्मीद को तोड़ दिया। आदिल राशिद ने 186 के स्कोर पर बोल्ट को बटलर के हाथो स्टंप करा कर टीम को 119 रन से जीत दिला दी।

इस जीत के साथ इंग्लैंड ने 1992 के बाद विश्व कप के सेमीफाइनल में स्थान बना लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *