साइबर फ्रॉड मामला : ईडी की बड़ी कार्रवाई, जामताड़ा में ताबड़तोड़ छापे

उत्तम आनंद वत्स की रिपोर्ट

जामताड़ा:

देश भर में साइबर ठगी को लेकर बदनाम झारखंड के जामताड़ा में प्रवर्तन निदेशालय ने अबतक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए करीब आधा दर्जन साइबर अपराधियों के घरों पर छापेमारी की और दस्तावेज जब्त किए।

रांची से आई प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने अपनी जांच में जिले के नारायणपुर थाना इलाके के लटैया और मिर्गा गांव के कुख्यात साइबर चोरों के नवनिर्मित घरों में आई लागत का आकलन किया और घरों में रखे तमाम दस्तावेजों की जांच की।

हालांकि साइबर फर्जीबाड़े में लिप्त अपराधी पहले से ही फरार चल रहे हैं।

ईडी की टीम ने सबसे पहले मिर्गा गॉव के साईबर अपराधी प्रदीप मंडल, पिन्टू मंडल, बिषु मंडल एवं मुकेष मंडल के घरों पर दस्तक दिया। जहां उक्त साईबर अपराधियों के घरों में मौजूद समानों एवं घरों के निर्माण में कुल कितने पैसे का लागत आया है, उसका आकलन किया
गया।

बाद में ईडी टीम सीधे लटैया गॉव पहुंचकर रंजीत मंडल एवं प्रकाश मंडल के घरों का आकलन किया। जहां उक्त अपराधियों के घरों में उपस्थित परिजनों से आलिशान भवनों के निर्माण में राशि कहां से आई एवं अन्य सदस्य किस रोजगार से पैसा अर्जित कर मकान एवं अन्य ऐसो आराम की चीजें खरीदे, इसकी जांच की गई।

ज्ञात हो कि जिला में कुल 30 साईबर अपराधियों के विरूद्ध ईडी से जांच कराने हेतू जिला पुलिस के द्वारा विभिन्न माध्यमों से अनुशंसा की गई थी। वहीं दो मामले ईडी में जिला का दो माह पूर्व ही दर्ज किया गया है। ईडी के इस कार्रवाई से साइबर अपराधियों के बीच हड़कंप मच गया है।

आपको बता दें कि, झारखंड के जामताड़ा जिले में करीब 500 से ज्यादा युवक साइबर ठगी के धंधे में लिप्त हैं जो, देशभर में लोगों को फर्जी फोन कॉल कर उनके अकाउंट से ऑनलाइन पैसे चुरा लेते हैं। इतना ही नहीं जामताड़ा के अलावा इन ठगों का नेटवर्क पड़ोस के जिलों देवघर, गिरिडीड, दुमका और धनबाद तक फैले हुए हैं। इन ठगों ने अबतक देशभर के तमाम राज्यों में फर्जी फोन कॉल कर करोड़ों रुपये की ठगी की वारदात को अंजाम दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *