बैधनाथधाम: रिमझिम फुहारों के बीच सीएम रघुबर ने किया श्रावणी मेले का शुभारंभ

उत्तम आनंद वत्स की रिपोर्ट

 

देवघर:

 

झारखंड के राजकीय मेले का दर्जा प्राप्त विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले का आज विधिवत शुभारंभ हो गया। राज्य के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने पूरे विधि-विधान और वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ मेले का उद्घाटन किया।

 

 

इसके साथ ही देवाधिदेव की नगरी देवघर में आज से कांवर यात्रा की भी शुरूआत हो गई। इस यात्रा के पहले ही दिन कांवरिया पथ में कांवरियों की आच्छी-खासी भीड़ नजर आई। पूरा रास्ता केसरिया रंग में रंगा नजर आया।

 

आपको बता दें कि, तय कार्यक्रम के मुताबिक मुख्यमंत्री रघुबर दास मेले का उद्घाटन करने देवघर पहुंचे थे। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने देवघर जिले में 61 करोड़ रुपये की विकास योजनोओं का भी शिलान्यास कियाय़ मेले का उद्घाटन करने के बाद सीएम ने देवघर को लेकर तमाम प्राथमिकताओं को गिनाया साथ ही आने वाले समय में देवघर जिले को अंतर्राष्ट्रीय स्तर के शहर के तौर पर विकसित करने की बात कही।

 

 

श्रावणी मेले के उद्घाटन के मौके पर देवघर पहुंचे मुख्यमंत्री रघूबर दास बेहद प्रसन्न नजर आए। ट्वीट करके उन्होंने बताया कि उन्होंने भी बाबा के नाम का कांवर सात बार उठाया है।

 

इससे पहले मुख्यमंत्री रघुबर दास ने श्रावण मास में बाबा बैद्यनाथ धाम के दर्शन के लिए दिव्यांगों, महिलाओं, बुजुर्गों और गरीबों के लिए जसीडीह से देवघर और देवघर से बासुकीनाथ धाम के लिए आज से निःशुल्क बस सेवा को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

 


उल्लेखनीय है कि एक महीने तक चलने वाले इस श्रावणी मेले में देश और दुनिया के लोग रावणेश्वर बैधनाथ की महिमा गाते हुए तकरीबन 110 किलोमीटर का पैदल सफर पूरा कर उत्तरवाहिनी गंगा जल से मनोकामना ज्योर्तिलिंग का जलाभिषेक करते हैं। एक महीने तक पूरा बैधनाथधाम केसरिया रंग में डूब जाता है और पूरा कांवरिया पथ बोल बम के नारों से गुंजायमान रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *