स्टार्टअप रैंकिग में टॉप पर गुजरात, दिल्ली 18वें पायदान पर

नई दिल्ली:

राज्यों की पहली स्टार्टअप रैंकिंग में सौ फीसदी अंकों के साथ गुजरात को बेस्ट परफॉर्मर घोषित किया गया। उसके बाद कर्नाटक, केरल, ओडिशा और राजस्थान शीर्ष पर हैं, जिन्होंने 85% अंक हासिल किए हैं। 70% से ज्यादा अंक हासिल करने वाले राज्यों में आंध्र, बिहार, छत्तीसगढ़, एमपी, तेलंगाना हैं।

दिल्ली टॉप 15 में भी नहीं

वहीं, फिनटेक और ऑनलाइन रिटेल स्टार्टअप्स की तादाद के हिसाब देश के टॉप राज्यों में शुमार दिल्ली स्टेट स्टार्टअप रैंकिंग में शीर्ष 15 राज्यों में जगह नहीं बना सकी। स्टार्टअप्स के प्रोत्साहन और रेगुलेशन के मकसद से राज्य सरकारों के लिए तय 38 पैमानों के आधार पर दिल्ली 50% अंक भी हासिल नहीं कर पाई। अब तक स्टार्टअप पॉलिसी लागू नहीं कर पाना दिल्ली की रैंकिंग पर सबसे ज्यादा भारी पड़ा है। दिल्ली रैंकिंग में 18वें पायदान पर है। हालांकि स्टार्टअप्स की संख्या के हिसाब से यह टॉप-10 राज्यों में शुमार है, जहां देश के 85% स्टार्टअप्स चल रहे हैं।

डीआईपीपी ने जारी की रैंकिंग

डिपार्टमेंट ऑफ इंडस्ट्रियल पॉलिसी ऐंड प्रमोशन (डीआईपीपी) की ओर से गुरुवार को पहली बार स्टार्टअप्स से जुड़ी राज्यों की रैंकिंग जारी की गई। डीआईपीपी ने 7 रिफॉर्म एरिया और 38 एक्शन प्लान के आधार कई तरह के सर्वे और इंडस्ट्री फीडबैक के साथ यह रैंकिंग तैयार की है। रैंकिंग बनाने की शुरुआत 2016 में स्टार्टअप इंडिया कार्यक्रम लागू होने के बाद ही हो गई थी, तब सिर्फ 4 राज्य अपने स्तर पर स्टार्टअप पॉलिसी ला पाए। फिलहाल 21 राज्यों ने अपनी स्टार्टअप पॉलिसी लागू कर दी है।

दिल्ली सरकार ने जून 2018 में ड्राफ्ट स्टार्टअप पॉलिसी का ऐलान किया था, लेकिन अभी वह इसे लागू नहीं कर पाई है। साथ ही बिजनस रिफॉर्म खासकर सिंगल विंडो क्लियरेंस की कमी और मल्टीपल एजेंसियों में तालमेल नहीं होना इसके खिलाफ गया है। ड्राफ्ट पॉलिसी की पहल और बेहतर इन्फ्रा सहूलियतों के चलते दिल्ली को इमर्जिंग स्टेट्स के समूह में रखा गया है।

दो लाख से ज्यादा स्टार्टअप्स रजिस्टर्ड

देशभर में 2 लाख से ज्यादा स्टार्टअप्स रजिस्टर्ड हैं, लेकिन डीआईआईपी ने 8625 स्टार्टअप्स को ही इस रैंकिंग के लिए मान्यता दी है। दिल्ली ऑनलाइन रिटेल और स्टार्टअप्स का मुफीद ठिकाना मानी जाती है और हाल में यहां हजारों स्टार्टअप्स ने दस्तक दी है। एनसीआर मिलाकर दिल्ली देश का सबसे बड़ा स्टार्टअप हब है, जबकि दूसरे और तीसरे स्थान पर बेंगलुरु और मुंबई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *