‘भाजपा की यहां दोबारा सरकार बनी तो 25 साल तक बुआ और भतीजा नहीं दिखेंगे’ : अमित शाह

लखनऊ:

आम चुनावों के बाद भाजपा की अगुवाई में ‘मजबूत सरकार’ बनाने का आह्वान करते हुए पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कहा कि एक बार फिर यहां भाजपा की सरकार बनती है तो अगले 25 साल तक ‘‘बुआ-भतीजा’’ दिखाई नहीं देंगे । भाजपा अध्यक्ष ने लोगों से ‘मजबूत अथवा मजबूर’ सरकार में से किसी एक को चुनने की लोगों से अपील की ।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और कानपुर के भारतीय जनता पार्टी के बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव के बाद देश में ‘मजबूत सरकार बने या मजबूर सरकार’ इसका चुनाव आपको करना है । भाजपा नेता ने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि मोदी जी के नेतृत्व में एक मजबूत सरकार बने। विपक्षी दल चाहते हैं कि सरकार मजबूर हो । आप एक बार फिर यहां भाजपा की सरकार बना दो तो यहां 25 साल तक ना तो बुआ दिखेगी और ना ही भतीजा दिखेगा।’’उन्होंने कहा, ‘‘मैं कार्यकर्ताओं का आह्वान करता हूं कि यह लड़ाई देश के लिये महत्वपूर्ण है। यह लड़ाई जीतना भाजपा के साथ-साथ भारत के लिये भी जरूरी है। हमारा कार्यकर्ता 50 प्रतिशत वोटों की लड़ाई जीतकर ही आएगा। सीटों की संख्या ऐसी हो कि विरोधियों के दिल दहल जाएं।’’

‘भाजपा के फोर बी और विपक्ष का फोर बी’

शाह ने तंज किया ‘‘भाजपा के फोर बी हैं-बढ़ता भारत, बनता भारत। जो गठबंधन करने चले हैं उनके फोर बी हैं – बुआ, भतीजा, भाई और बहन । उनको लीडर चलाए, ऐसी सरकार नहीं चाहिये। उनको डीलर या दलाल चलाए, ऐसी सरकार चाहिये। इन लोगों की सरकार देश को आगे नहीं ले जा सकती।’’सम्मेलन में विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा, ‘‘विपक्ष बताए कि उसका प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी कौन है। अगर गठबंधन की सरकार बनी तो सोमवार को मायावती, मंगलवार को अखिलेश यादव, बुधवार को ममता, गुरुवार को शरद पवार, शुक्रवार को देवगौड़ा प्रधानमंत्री बनेंगे। शनिवार को स्टालिन बन जाएंगे और रविवार को देश छुट्टी पर चला जाएगा।’’उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा ‘‘अभी दो-तीन छूट गये हैं… उनको भी मिला लो। कांग्रेस, बुआ, भतीजा सबको इकट्ठा कर लो। जिसे भी इकट्ठा होना है, हो जाए, मगर हमें भरोसा है कि भाजपा हर बूथ पर 50 प्रतिशत से ज्यादा मत प्राप्त करेगी ।’’

शाह ने सवाल किया, ‘‘बुआ भतीजे के बीच इतना प्यार कहां से उमड़ आया । यह कार्यकर्ताओं का डर है कि यह एकजुट हो गये हैं। यह भाजपा की शक्ति का परिचायक है कि सपा-बसपा इकट्ठा हैं। यह गठबंधन सिद्धांतों का नहीं बल्कि जातिवाद, भ्रष्टाचार, अपराधीकरण का गठबंधन है और प्रदेश को पीछे करने के लिये कानून-व्यवस्था बिगाड़ने का गठबंधन है।’’उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता को और मोदी के बढ़ते राजनीतिक प्रचार प्रसार को रोकने के लिये एक गठबंधन हुआ। यह गठबंधन जातिवाद, स्वार्थ और भ्रष्टाचार का गठबंधन है। मगर हमारे कार्यकर्ता भारत माता के जयकारे के साथ गठबंधन करने वालों को जमीन पर लाने को तैयार हैं।’’शाह ने कहा, ‘‘भाजपा ने जातिवाद की समाप्ति के लिये ठोस कदम उठाये हैं। जातिवाद की समाप्ति, उत्तर प्रदेश के विकास की शुरुआत है। जातिवाद के कारण छोटी-छोटी जातियां विकास से वंचित हो जाती थी, भाजपा सरकार ने हर जाति के लोगों को समान सुविधाएं दी। जातिवाद समाप्त करने का काम भाजपा सरकार ने किया है ।’’

‘रामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर के लिए भाजपा कटिबद्ध’

शाह ने कहा कि कांग्रेस को रामजन्मभूमि का नाम लेने का कोई अधिकार नहीं है और वह उत्तर प्रदेश की जनता से कहने आये हैं कि रामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर जल्द से जल्द बने इसके लिये भाजपा कटिबद्ध है । उन्होंने एनआरसी का मुद्दा भी उठाते हुए कहा कि चुनाव में जाने से पहले गठबंधन के सभी नेताओं को इस मामले पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिये और भाजपा दोबारा सत्ता में आयी तो कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक-एक घुसपैठिये को चुन-चुनकर बाहर निकाला जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *