भारत, चीन संवेदनशीलता और परिपक्वता के साथ संभाल रहे हैं अपने मतभेद : पीएम मोदी

नई दिल्ली:

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि भारत-चीन सीमावर्ती इलाकों में शांति से स्पष्ट है कि दोनों देश अपने मतभेदों को संवेदनशीलता और परिपक्वता के साथ संभाल रहे हैं और उन्हें विवाद नहीं बनने दे रहे।

प्रधानमंत्री मोदी ने भारत-चीन संबंधों को वैश्विक स्थिरता में एक कारक बताया तथा रक्षा और सैन्य आदान-प्रदान सहित सभी क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच उच्चस्तरीय संपर्कों की बढ़ती गति की सराहना की।

 

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) द्वारा जारी एक बयान के अनुसार मोदी ने यह टिप्पणी चीन के रक्षा मंत्री और स्टेट काउंसिलर जनरल वी फेंगे से आज मुलाकात के दौरान की।

 

बयान के अनुसार भारत-चीन संबंधों को दुनिया में स्थिरता का एक कारक बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सीमावर्ती इलाकों में शांति कायम रखना संवेदनशीलता और परिपक्वता का संकेत है जिसके साथ भारत और चीन अपने मतभेदों को संभालते हैं और उन्हें विवाद नहीं बनने देते।

 

प्रधानमंत्री ने वुहान, चिंगदाओ और जोहांसबर्ग में राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ हालिया मुलाकातों की चर्चा की।

 

चीनी रक्षा मंत्री आज से चार दिनों की भारत यात्रा पर हैं। पिछले साल 73 दिनों के डोकलाम गतिरोध के बाद दोनों देशों की सेनाओं के बीच संचार और माहौल में सुधार के लिए उनकी इस यात्रा को महत्वपूर्ण घटनाक्रम के तौर पर देखा जा रहा है।

 

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक वी की यात्रा का प्राथमिक उद्देश्य अप्रैल में वुहान में उनके मोदी और शी के अनौपचारिक शिखर सम्मेलन में किए गए फैसलों के कार्यान्वयन पर भारतीय रक्षा प्रतिष्ठान के साथ विचार करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *