न्यूजीलैंड से जीत छीन कर भारत ने श्रृंखला में क्लीन स्वीप किया

माउंट मोनगानुई (न्यूजीलैंड):

जसप्रीत बुमराह की अगुवाई में भारतीय गेंदबाजों ने एक बार फिर जबर्दस्त वापसी का बेजोड़ नमूना पेश करके जीत की तरफ बढ़ रहे न्यूजीलैंड को रविवार को यहां पांचवें और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय में सात रन से हार का स्वाद चखाया। पिछले दोनों मैच सुपर ओवर में जीतने वाले भारत ने इस तरह से पांच मैचों की श्रृंखला में 5-0 से क्लीन स्वीप किया। भारत ने तीसरी बार तीन या इससे अधिक मैचों की श्रृंखला में क्लीनस्वीप किया है।

न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने अपनी टीम को अच्छी वापसी दिलाकर पहले बल्लेबाजी का फैसला करने वाले भारत को तीन विकेट पर 163 रन ही बनाने दिये। इसके जवाब में न्यूजीलैंड रोस टेलर (47 गेंदों पर 53, 5X4, 3X6) और टिम सीफर्ट (30 गेंदों पर 50, 5X4, 2X6) के अर्धशतकों की मदद से 12.3 ओवर में तीन विकेट पर 116 रन बनाकर अच्छी स्थिति में दिख रहा था लेकिन यहीं से मैच ने पासा पलटा और उसकी टीम नौ विकेट पर 156 रन ही बना पायी।

इससे पहले विराट कोहली को विश्राम दिये जाने के कारण भारत की कमान संभाल रहे रोहित शर्मा ने रिटायर्ड हर्ट होने से पहले 41 गेंदों पर 60 रन बनाये जिसमें तीन चौके और इतने ही छक्के शामिल हैं। उन्होंने केएल राहुल (33 गेंदों पर 45, 4X4, 2X6) के साथ दूसरे विकेट के लिये 88 रन की साझेदारी की। श्रेयस अय्यर के 31 गेंदों पर नाबाद 33 रन का योगदान दिया। रोहित बल्लेबाजी के दौरान चोटिल हो गये और क्षेत्ररक्षण के लिये नहीं उतरे लेकिन उनकी जगह टीम की कमान संभाल रहे राहुल ने अपनी नेतृत्वक्षमता का अच्छा परिचय दिया। बुमराह (चार ओवर में 12 रन देकर तीन विकेट), नवदीप सैनी (23 रन देकर दो) और शार्दुल ठाकुर (38 रन देकर दो) ने भारत को वापसी दिलाने में अहम भूमिका निभायी।

शिवम दूबे के एक ओवर में 34 रन बने

भारतीय गेंदबाजों ने यह वापसी तब की जबकि शिवम दुबे के एक ओवर में 34 रन बने थे। इस तरह से भारत किसी एक ओवर में 30 से अधिक रन देने के बावजूद जीत दर्ज करने वाली पहली टीम बन गया।
बुमराह ने अपने पहले ओवर में ही मार्टिन गुप्टिल (दो) को पगबाधा आउट किया जबकि वाशिंगटन सुंदर ने अगले ओवर में कोलिन मुनरो (छह गेंद पर 15) को बोल्ड करके उनके तेवरों पर विराम लगाया। टॉम ब्रूस के रन आउट होने से स्कोर तीन विकेट पर 17 रन हो गया।

लेकिन टेलर और सीफर्ट ने सहजता से बल्लेबाजी की। राहुल ने दसवां ओवर दुबे को सौंपा। टेलर और सीफर्ट ने इस ओवर में चार छक्कों और दो चौकों की मदद से 34 रन बटोरे। इस तरह से यह टी20 क्रिकेट का दूसरा सबसे महंगा ओवर बन गया।

न्यूजीलैंड का स्कोर तीन विकेट पर 116 रन था और वह सुगमता से लक्ष्य की तरफ बढ़ रहा था लेकिन तभी सीफर्ट अर्धशतक पूरा करने के तुरंत बाद नवदीप सैनी की गेंद पर मिडविकेट पर कैच दे बैठे। उन्होंने पांच चौके और तीन छक्के लगाये। बुमराह ने नये बल्लेबाज डेरिल मिशेल को बोल्ड कर दिया।

मिशेल सैंटनर (छह) और स्कॉट कुगलीन ने दबाव में ठाकुर की गेंदों पर हवा में कैच लहराये। टेलर ने सैनी की बाहर जाती गेंद को छेड़कर विकेटकीपर राहुल को कैच दे दिया। ईश सोढ़ी (नाबाद 16) ने दो छक्के लगाये लेकिन इससे हार का अंतर ही कम हुआ।

इससे पहले स्कॉट कुगलीन (25 रन देकर दो) और हामिश बेनेट (21 रन देकर एक) की अगुवाई में कीवी गेंदबाजों ने अपनी टीम को अच्छी शुरुआत दिलायी। राहुल के आउट होने से भारतीय लय गड़बड़ाई जबकि इसके बाद रोहित पिंडली की चोट के कारण पवेलियन लौट गये।

भारत ने अंतिम 20 गेंदों में मात्र 25 रन बनाए

रोहित के बाहर लौटने के बाद भारत ने अंतिम 20 गेंदों पर केवल 25 रन बनाये। इनमें साउदी (चार ओवर 52 रन) का अंतिम ओवर भी शामिल हैं जिसमें मनीष पांडे (चार गेंदों पर नाबाद 11) ने छक्का और चौका लगाया। अय्यर ने 12वें ओवर में क्रीज पर कदम रखने पर साउदी और मिशेल सैंटनर पर छक्के लगाये थे लेकिन डेथ ओवरों में वह अपेक्षित तेजी नहीं दिखा पाये। रोहित की जगह पारी की शुरुआत करने वाले संजू सैमसन (दो) दूसरी बार मौके का फायदा नहीं उठा पाये और दूसरे ओवर में ही शार्ट कवर पर कैच देकर पवेलियन लौट गये।

राहुल ने न्यूजीलैंड के कार्यवाहक कप्तान साउदी के एक ओवर में एक छक्का और दो चौके लगाये और फिर कुगलीन पर खूबसूरत छक्का लगाया। रोहित ने सैंटनर और ईश सोढ़ी पर सहजता से छक्के लगाये। उन्होंने रिटायर्ड हर्ट होने से पहले साउदी पर चौका जड़कर 35 गेंदों पर अपना 21वां अर्धशतक पूरा किया।

इन दोनों टीमों के बीच तीन वनडे और दो टेस्ट मैचों की श्रृंखलाएं होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *