आस्ट्रेलियाई गोलंदाजों के सामने धराशायी भारतीय बल्लेबाज, पुजारा ने रखी लाज

एडीलेड:

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच आज से शुरू हुए पहले टेस्ट मैच के पहले ही दिन मेजबान आस्ट्रेलिया के धारधार गोलंदाजी के सामने भारतीय बल्लेबाजी क्रम ताश के पत्तों की तरह बिखर गया। शतकवीर चेतेश्वर पुजारा के अलावा भारत का कोई भी बल्लेबाज आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का सामना नहीं कर सका और ‘कमजोर’ कही जा रही मेजबान टीम ने उसके नौ विकेट 250 रन पर उखाड़ दिये ।

स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की गैर मौजूदगी में कमजोर मानी जा रही आस्ट्रेलियाई टीम के गेंदबाजों ने दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी क्रम की चूलें हिलाकर दिखा दिया । एडीलेड ओवल की सपाट पिच पर भारत के लिये राहत का सबब पुजारा की शतकीय पारी रही जिन्होंने 246 गेंद में सात चौकों और दो छक्कों की मदद से 123 रन बनाये । वह दिन की आखिरी गेंद पर रन आउट हुए । अपना 16वां टेस्ट शतक जमाने वाले पुजारा ने एक छोर नहीं संभाला होता तो भारतीय टीम 200 रन तक भी नहीं पहुंच पाती । पुजारा ने इसके साथ ही टेस्ट क्रिकेट में 5000 रन भी पूरे कर लिये ।

आस्ट्रेलिया के लिये मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड, पैट कमिंस और नाथन लियोन ने दो दो विकेट लिये । आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की इस सफलता के लिए भारतीय बल्लेबाजों के गैरजिम्मेदाराना शॉट ने भी अपनी भूमिका बखुबी निभाई। इसके अलावा टेस्ट मैच के पहले दिन आस्ट्रेलिया की फील्डिंग और कैचिंग जबर्दस्त रही , खासकर विराट कोहली का उस्मान ख्वाजा ने दर्शनीय कैच लपका । आस्ट्रेलियाई गेंदबाज इस कदर सटीक थे कि पूरे 87 . 5 ओवर में उन्होंने मात्र एक अतिरिक्त रन लेगबाय के रूप में दिया ।

 

 

इससे पहले भारत ने टास जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया । हनुमा विहारी को बाहर रखकर छठे बल्लेबाज के तौर पर रोहित शर्मा को टीम में जगह दी गई । आस्ट्रेलियाई टीम के लिये मार्कस हैरिस ने टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया ।

भारत ने लंच तक चार विकेट 56 रन पर गंवा दिये थे । जोश हेजलवुड ने 28 रन देकर दो विकेट लिये और आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों ने नयी कूकाबूरा गेंद से नियमित अंतराल पर विकेट चटकाये । पहले सत्र के 27 ओवर में भारतीय शीर्षक्रम क्रीज पर पैर जमा ही नहीं सका।

दोनों सलामी बल्लेबाजों में से केएल राहुल (दो) के पास आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की रफ्तार का कोई जवाब नहीं था । वह दूसरे ओवर में गैर जिम्मेदाराना शाट खेलकर तीसरी स्लिप में हेजलवुड को कैच दे बैठे ।

मुरली विजय (11) बेहतर दिख रहे थे लेकिन रनगति बढाने के प्रयास में विकेट गंवा बैठे । सातवें ओवर में विजय ने स्टार्क को कवर ड्राइव लगाने की कोशिश की लेकिन चूके और विकेट के पीछे टिम पेन को कैच दे दिया ।

इसके बाद कप्तान विराट कोहली क्रीज पर आये जो आत्मविश्वास से भरे दिखे । वह भी हालांकि कोई कमाल नहीं कर पाये और पैट कमिंस की गेंद पर उस्मान ख्वाजा ने अपनी बायीं ओर डाइव लगाकर उनका शानदार कैच लपका ।

उस समय भारत का स्कोर 11 ओवर में तीन विकेट पर 19 रन था । पुजारा और अजिंक्य रहाणे (13) ने 59 गेंदों में 22 रन जोड़े । रहाणे को नाथन लियोन को खेलने में काफी दिक्कत हुई जो ड्रिंक्स ब्रेक के बाद गेंदबाजी के लिये आये । रहाणे ने लियोन को उसके दूसरे ओवर में लांग आन पर छक्का लगाया ।

 

 

रहाणे 21वें ओवर में हेजलवुड का शिकार हुए । पुजारा और रोहित ने भारत को 25वें ओवर में 50 रन के पार पहुंचाया । एक समय पर भारत का स्कोर 38 ओवर में पांच विकेट पर 86 रन था ।

लंच के बाद पुजारा और रोहित शर्मा ने अच्छी शुरूआत की और पांचवें विकेट के लिये 45 रन जोड़े । पुजारा एक छोर पर दृढ होकर बल्लेबाजी कर रहे थे जबकि रोहित दूसरी ओर आक्रामक लग रहे थे । रोहित ने पैट कमिंस को दो छक्के भी लगाये । इसके बाद नाथन लियोन को 38वें ओवर की दूसरी गेंद पर छक्का जड़ा । गेंद मार्कस हैरिस के हाथ में थी लेकिन वह सीमा को लांघ गए थे लिहाजा अंपायर ने दोनों हाथ ऊपर उठा दिये ।

इसके बाद भी रोहित ने सबक नहीं लेते हुए अगली ही गेंद पर फिर ऊंचा शाट खेला और डीप में लपके गए । ऋषभ पंत भी आक्रामक तेवर लेकर ही उतरे थे और कुछ गेंद खेलकर ही दो चौके और एक छक्का जड़ डाला । पुजारा ने उन्हें संयम के साथ खेलने की ताकीद की । दोनों ने छठे विकेट के लिये 41 रन जोड़कर भारत को 41वें ओवर में 100 रन के पार पहुंचाया । पंत सहज नहीं लग रहे थे और चाय के ठीक पहले लियोन की गेंद पर विकेट के पीछे कैच देकर आउट हुए ।

इसके बाद पुजारा और अश्विन (25) ने सातवें विकेट के लिये 62 रन की साझेदारी करके टीम को 200 रन के पास पहुंचाया । अश्विन के आउट होने के बाद ईशांत शर्मा क्रीज पर आये और चार रन बनाकर कमिंस का शिकार हुए। इस बीच पुजारा ने 84वें ओवर में हेजलवुड को एक चौका और एक छक्का लगाकर अपने हाथ खोले । अगले ओवर में स्टार्क की गेंद पर दो रन लेकर उन्होंने अपना शतक पूरा किया ।

उन्होंने 87वें ओवर में कमिंस को भी एक चौका और एक छक्का लगाया लेकिन अगले ओवर की आखिरी गेंद पर तेजी से रन लेने के प्रयास में अपना विकेट गंवा बैठे । वह मिडआन पर शाट खेलकर दूसरा रन लेने के लिये भागे लेकिन कमिंस के सटीक सीधे थ्रो पर रन आउट हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *