गत वर्ष 2018 में भारतीय स्टार्टअप कंपनियों ने जुटाए 38.3 अरब डॉलर: रिपोर्ट

नई दिल्ली:

एक अनुमान के मुताबिक बीता वर्ष 2018 भारत की स्टार्टअप कंपनियों के लिए बेहतरीन रहा। भारतीय स्टार्टअप कंपनियों के 2018 में 38.3 अरब अमेरिकी डॉलर की राशि जुटाने का अनुमान है। योस्टार्टअप्स की बृहस्पतिवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक पूंजी जुटाने के मामले में दुनिया भर में अमेरिका और यूरोप के बाद भारतीय कंपनियों का तीसरे नंबर पर रहीं।

रिपोर्ट में फ्लिपकार्ट और वॉलमार्ट के बीच हुए सौदे का जिक्र करते हुए बताया गया है कि 2018 में ई-वाणिज्य कंपनी फ्लिपकार्ट ने वालमार्ट के साथ 16 अरब डॉलर का सौदा किया। वही स्विगी ने तीन सौदों में 1.3 अरब डॉलर की राशि जुटायी और ओयो ने एक अरब डॉलर जुटाए हैं।

बड़ी पूंजी जुटाने वालों में पेटीएम मॉल ने 89.5 करोड़ डॉलर, रीन्यू पावर ने 49.5 करोड़ डॉलर, बायजूस ने 42.2 करोड़ डॉलर और जोमेटो ने 41 करोड़ डॉलर की राशि जुटायी है।

रपट के अनुसार 2018 में विभिन्न भारतीय स्टार्टअप कंपनियों ने 1,000 सौदों में करीब 38.3 अरब डॉलर की राशि जुटायी है। योस्टार्टअप्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जप्रीत सेठी ने कहा कि 2018 में एशियाई क्षेत्र की कंपनियों ने 172 अरब डॉलर, अमेरिकी कंपनियों ने 162.9 अरब डॉलर और यूरोपीय कंपनियों ने 46.2 अरब डॉलर की राशि जुटायी है।

दुनियाभर में 2018 में पूंजी जुटाने से जुड़े 14,300 सौदे हुए जिसमें 400 अरब डालर से अधिक की पूंजी जुटाई गई। पिछले साल के मुकाबले यह 23 प्रतिशत ज्यादा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *