राज की मनसे ने अपनाया भगवा झंडा, घुसपैठियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार को समर्थन

नौ फरवरी को सीएए-एनआरसी के समर्थन में मनसे करेगा रैली का आयोजन

मुंबई:

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने गुरूवार को अपनी पार्टी का नया भगवा झंडा जारी करके और पाकिस्तानी, बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से बाहर करने के लिए नरेन्द्र मोदी सरकार को समर्थन देने की घोषणा करके संकेत दिया कि वह अपने चाचा बाल ठाकरे की राजनीतिक विरासत को आगे ले जाना चाहते हैं।

राज ठाकरे ने दिवंगत शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे की जयंती के मौके पर गोरेगांव में मनसे की एक रैली को संबोधित किया। उन्होंने सवाल किया, ‘‘नागरिकता संशोधन कानून पर बहस हो सकती है लेकिन हमें बाहर से अवैध तरीके से देश में आये लोगों को शरण क्यों देनी चाहिए?’’ महाराष्ट्र में कांग्रेस और राकांपा के साथ मिलकर सरकार बनाने वाले अपने चचेरे भाई उद्धव ठाकरे पर परोक्ष व्यंग्य कसते हुए राज ठाकरे ने कहा, ‘‘मैं सरकार बनाने के लिए मेरी पार्टी का रंग नहीं बदलता।’’

मनसे के नये झंडे पर छत्रपति शिवाजी महाराज की राज मुद्रा का चित्र है। पार्टी के पहले के झंडे में भगवा, नीले और हरे रंग की पट्टियां थीं। नये झंडे में शिवाजी महाराज की राज मुद्रा को अंकित करने पर शिवसेना और कुछ अन्य संगठनों ने विरोध दर्ज कराया।

राज ठाकरे ने आगामी नौ फरवरी को सीएए और एनआरसी के समर्थन में एक रैली करने की भी घोषणा की। राज ठाकरे ने कहा कि देश भर में इस मुद्दे पर हो रहे विरोध प्रदर्शनों का मुंहतोड़ जवाब देना जरुरी है।

राज ठाकरे ने 2006 में शिवसेना से अलग होकर मनसे का निर्माण किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *