लहसुन, प्याज खाने से कैंसर का खतरा कम : अध्ययन

बीजिंग:

हमारे पारंपरिक जानकारियों पर अब देर से ही सही दुनिया के बड़े बड़े विश्वविद्यालय भी अपने मुहर लगाने लगे हैं। ताजा मामला रसोईघर के प्याज और लहसून से जुड़ा है। दरअसल पूरी दुनिया में यमराज के दुसरे नाम से जाना जाने वाला कैंसर भी दादी नानी के नुस्खे के आगे दम तोड़ सकते हैं बशर्तें की वो नुस्खा हमारे अवचेतन से बाहर निकल अनुशासन का हिस्सा हो जाए।

प्याज-लहसुन भी कैंसर को मार सकता है। ताजा अध्ययन में यह दावा किया गया है। प्याज-लहसुन वाली सब्जी खाने से मलाशय के कैंसर के विकसित होने का खतरा कम हो जाता है। एक नए अध्ययन में इस बारे में दावा किया गया है।

एशिया पैसिफिक जर्नल ऑफ क्लिनिकल ऑन्कोलॉजी में प्रकाशित अध्ययन में पाया गया कि प्याज, लहसुन वाली सब्जी खाने से वयस्कों में कोलोरेक्टल कैंसर का खतरा 79 प्रतिशत घट गया। चाइना मेडिकल यूनिवर्सिटी के फर्स्ट हॉस्पिटल के झी ली ने कहा कि हमारे अध्ययन से जो निष्कर्ष निकल कर सामने आया है, उसके मुताबिक यह कहना ठीक होगा कि ऐहतियात के लिए प्याज और लहसुन वाली सब्जी खाना ज्यादा बेहतर है । उन्होंने कहा कि अध्ययन के नतीजे इस पर भी प्रकाश डालते हैं कि जीवनशैली में परिवर्तन कर किस तरह शुरूआत में ही कोलोरेक्टर कैंसर की रोकथाम कर सकते हैं ।

कोलन और मलाशय बड़ी आंत के हिस्से हैं, जो पाचन तंत्र का सबसे निचला हिस्सा होता है। विभिन्न तरह के कैंसर से जितनी मौत होती है, उसमें महिलाओं और पुरूषों के मामले में कैंसर का यह क्रमश: दूसरा और तीसरा सबसे बड़ा रूप है।

तो अगली गर्मियों में लू से बचने के लिए जब आप सत्तु और प्याज की शरबत नींबू निचोड़ कर पी रहे हों तो मुस्कुराइएगा जरूर क्योंकि यह सिर्फ आपको लू से ही नहीं बचाएगा बल्कि पेट और आंतों के कैंसर को भी आपके आस पास फटकने नहीं देगा और जाड़ों में तो आप लहसून खा ही रहे होंगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *