डॉलर के मुकाबले 72.69 के नए न्यूमतम स्तर पर पहुंचा रुपया

मुंबई:

अमेरिका की दंडात्मक आयात शुल्क नीति से वैश्विक व्यापार युद्ध भड़कने की आशंकाएं बढ़ने और कच्चे तेल की कीमतों में लगातार तेजी के साथ भारतीय प्रतिभूति बाजार से विदेशी पूंजी की निकासी के रुझानों के बीच मंगलवार को रुपया डालर के मुकाबले 24 पैसे और टूटकर 72.69 के नये निम्न स्तर पर बंद हुआ।

सुबह रुपये में मजबूती दिखी और यह प्रति डलार 72.25 तक चढ़ गया था। लेकिन तेजी टिकाऊ नहीं रही और जल्दी ही रुपया 72.74 तक हल्का हो गया था। रुपये के रिकॉर्ड निम्न स्तर को छू गया। हालांकि भारतीय रिजर्व बैंक के तत्काल हस्तक्षेप के कारण रुपये में कुछ सुधार आया।

बाजार सूत्रों के मुताबिक विदेशी निवेशकों द्वारा पोर्टफोलियो निवेश में भारी कटौती तथा वर्ष 2019 के आम चुनावों के बारे में कुछ राजनीतिक अनिश्चितताओं के कारण विदेशीमुद्रा विनिमय बाजार की धारणा प्रभावित हुई है।

आरंभिक आंकड़ों के अनुसार विदेशी निवेशकों ने सोमवार को पूंजी बाजार से 2,300 करोड़ रुपये की निकासी की है। कच्चे तेल की बढ़ती कीमत के कारण भी बाजार धारणा प्रभावित हुई।

अन्तरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में रुपया 72.30 पर मजबूत खुला जो कल रात 72.45 रुपये पर बंद हुआ था। आरंभिक कारोबार के दौरान 72.67 तक लुढ़कने के बाद गया जिसके कारण रिजर्व बैंक को बाजार में हस्तक्षेप करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

कारोबार के दौरान डालर के मुकाबले रुपया एक समय 72.25 तक मजबूत होने के बाद अचानक लुढ़कता हुआ 72.74 के ऐतिहासिक निम्न स्तर को छू गया जिसके कारण रिजर्व बैंक को बाजार में हस्तक्षेप करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

अंत में रुपये की विनिमय दर 24 पैसे अथवा 0.33 प्रतिशत की गिर कर 72.69 प्रति डॉलर पर बंद हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *