सूरत: इमारत में आग लगने से 20 छात्रों की मौत

सूरत:

गुजरात के व्यापारिक शहर सूरत स्थित एक वाणिज्यिक परिसर में शुक्रवार दोपहर आग लगने के बाद एक ‘कोचिंग क्लास’ के करीब 20 छात्रों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए । टीवी चैनलों पर दिखाईं जा रही वीडियो में सरथना इलाके के तक्षशिला परिसर में लगी आग का भयानक मंजर दिखाई दिया, जहां छात्र आग से बचने के लिए खिड़कियों से कूदते नजर आए।

घायलों के स्वास्थ्य का जाएजा लेने अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने बीस छात्रों के मौत की पुष्टि की। मुख्यमंत्री ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने कहा, “मुझे बताया गया है कि इमारत की सीढ़ियों में लगी आग की वजह से जान बचाने के लिए कई छात्र चौथी मंजिल से कूद गए, मैंने घटना की जांच के आदेश दिए हैं”।

गुजरात के स्वास्थ्य राज्य मंत्री किशोर कनानी ने बताया, ‘‘ बच्चों की मौत दम घुटने या आग लगी इमारत से कूदने के कारण हुई।’’

गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा, ‘‘ हमने मामले में विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं और दोषी पाए गए किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा।’’

राज्य के दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘ करीब 10 छात्र आग से बचने के लिए तीसरी और चौथी मंजिल से कूद गए। कई लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।’’

सूरत अग्निशमन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि 19 दमकल गाड़ियों को मौके पर भेजा गया और आग पर काबू पाने के लिए दो हाइड्रोलिक प्लेटफार्म भी बनाए गए।

स्थानीय लोगों की मदद से चलाए गए बचाव अभियान और कड़ी मशक्कत के बाद शाम होते होते आग पर काबू कर लिया गया।

मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने मृतकों के परिजनों को चार चार लाख रूपए की वित्तीय सहायता मुहैया कराने का ऐलान भी किया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने घटना पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वह आग त्रासदी से अत्यंत दुखी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *