देश पर मंडरा रहा आसमानी खतरा……

अश्विनी कुमार निगम
सलाहकार संपादक, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद

पाकिस्तान में इस समय राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा हो चुकी है और भारत में किसी भी समय ऐसा होने की आशंका है। ऐसा इसलिए क्योंकि विभिन्न देशों के साथ ही भारत पर टिड्डियों के दल का बड़ हमला हो चुका है।

ऐसे में इससे निपटने के लिए केन्द्रीय गृह मंत्रालय हरकत में आ चुका है और एक उच्चस्तरीय बैठक कर अलर्ट जारी किया जा चुका है। देश के कई राज्यों में पिछले कुछ दिनों से पाकिस्तान, ओमान और दक्षिणी ईरान से टिड्डियों का एक बड़ झुंड गुजरात, राजस्थान, पंजाब समेत दूसरे कई राज्यों की फसलों पर टूट पड़ा है।

दस हाथियों के बराबर फसलों को नष्ट कर सकता है टिड्डियों का एक छोटा सा झुंड

यह खतरा कितना बड़ा है इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि टिड्डियों का एक छोटा सा झुंड भी एक दिन में दस हाथियों के खाने के बराबर फसलों को नष्ट कर सकता है है। अगर जल्द ही इसपर काबू नहीं पाया गया तो खाद्य सुरक्षा के साथ ही पूरी दुनिया में अकाल आ जाएगा।

संकट पर जल्द कार्रवाई जरुरी : खाद्य एवं कृषि संगठन

खाद्य एवं कृषि संगठन के महानिदेशक क्यू डोन्गयू ने एक वीडियो संदेश में कहा है कि तत्काल कार्रवाई नहीं की गई तो दुनिया तेज़ी से विस्तार लेते एक मानवीय संकट को केवल ताक रही होगी।

टिड्डियों को दुनिया में सबसे पुराने और विनाशकारी प्रवासी जीव के रूप में देखा जाता है। टिड्डियों के एक दल में औसतन 4 करोड़ जन्तु होते हैं जो एक दिन में 150 किलोमीटर की दूरी तय करके प्रतिदिन तीन करोड़ से ज़्यादा लोगों के लिए पर्याप्त भोजन को नष्ट करने की क्षमता रखते हैं। यह चारागाहों के लिए भी एक चुनौती है, विशेष रूप से उन समुदायों के लिए जो पशुपालन पर निर्भर हैं।

हिन्द महासागर में असाधारण रूप से भारी बारिश और चक्रवाती तूफ़ान की आवृत्ति बढ़ने से टिड्डियों के पनपने की अनुकूल परिस्थितियां तैयार होती हैं। टिड्डी दल के नुक़सान से बचाव के लिए यूएन खाद्य एवं कृषि संगठन ने सात करोड़ 60 लाख डॉलर की रक़म जुटाने अपील जारी की है।

पूर्वी अफ़्रीका के देशों में लाखों-करोड़ों टिड्डियों के झुंड ने फ़सलों को भारी नुक़सान पहुंचाया है जिससे क्षेत्र में खाद्य सुरक्षा को ख़तरा पैदा हो गया है।

देश पर मंडरा रहा आसमानी खतरा……

देश पर मंडरा रहा आसमानी खतरा……ऐसा इसलिए क्योंकि विभिन्न देशों के साथ ही भारत पर टिड्डियों के दल का बड़ हमला हो चुका है।पाकिस्तान में इस समय राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा हो चुकी है और भारत में किसी भी समय ऐसा होने की आशंका है।देश के कई राज्यों में पिछले कुछ दिनों से पाकिस्तान, ओमान और दक्षिणी ईरान से टिड्डियों का एक बड़ झुंड गुजरात, राजस्थान, पंजाब समेत दूसरे कई राज्यों की फसलों पर टूट पड़ा है।

Posted by News Chrome on Thursday, February 13, 2020

असरदार कार्रवायी का समय निकला जा रहा है : संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र ने एक चेतावनी जारी करते हुए कहा कि टिड्डियों के क़हर से निपटने के लिए असरदार कार्रवाई करने का समय निकला जा रहा है और समय पर असरदार कार्रवाई नहीं की गई तो एक बड़ा मानवीय संकट पैदा हो सकता है।

पिछले 70 वर्षों में यह पहली बार है जब टिड्डियों ने केनया में इतनी तबाही मचाई है जबकि सोमालिया और इथियोपिया भी पिछले ढाई दशकों में हुई सबसे ज़्यादा हानि का अनुभव कर रहे हैं। इससे लाखों लोगों के लिए फ़सल उत्पादन, खाद्य सुरक्षा और जीवन के लिए जोखिम बढ़ गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *