मृतक विवेक की पत्नी ने की योगी से मुलाकात,आश्वासन से संतुष्ट

लखनऊ:

राजधानी में पुलिस की गोली से मारे गए एप्पल कम्पनी के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी ने अपनी दोनों बेटियों के साथ सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की। मुलाकात के बाद कल्पना ने मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री की और से दिए गए आश्वासन पर सन्तुष्टि जताई।

कल्पना ने बताया कि उनकी बातों को मुख्यमंत्री ने गंभीरता से सुना और सभी मांगों पर अश्वासन भी दिया है। उनकी बातों से वो सहमत और संतुष्ट हैं।

राज्य सरकार ने सभी मांग मान ली

कल्पना ने कहा कि मेरे पति की निर्मम हत्या हुई है। हत्यारों को कठोर से कठोर सजा मिले, ये मांग पूरी हो गई। मेरी नौकरी, रहने की समस्या, बेटियों की पढ़ाई की मांग भी पूरी हुई। मेरी सास और बच्चों की भविष्य की चिंता है। ये सभी बात मैंने उठाई और मुख्यमंत्री ने मेरी सभी मांगों को मान लिया। उन्होंने कहा कि परिवार को फिर से खड़ा करने में सरकार पूरी मदद करेगी।

गौरतलब है कि उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा खुद कल्पना को लेकर मुख्यमंत्री आवास पहुंचे थे। कल्पना के साथ उनकी दोनों बेटियां भी मौजूद थीं। डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि सरकार पीड़ित परिवार के साथ है और उनकी हरसंभव मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने परिवार को मदद का भरोसा भी दिलाया है।

परिवार को वित्तीय सहायता का एलान

कल्पना को 25 लाख रुपये व सरकारी नौकरी, दोनों बेटियों को पांच-पांच लाख की एफडी व मृत विवेक की मां को पांच लाख की एफडी देने की घोषणा की। इससे पहले रविवार को डॉ. दिनेश शर्मा ने कल्पना तिवारी से मुख्यमंत्री की बात कराई थी।

मुख्यमंत्री ने मृतक विवेक तिवारी की पत्नी से कहा कि परिवार को जिस किसी भी प्रकार की मदद की जरूरत होगी, सरकार उसे मुहैया कराएगी। उन्होंने यह भी कहा कि उनका परिवार जब कभी भी चाहेगा उनसे मिल सकता है। उन्होंने कहा कि इस मामले में कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

उल्लेखनीय है कि एप्पल मोबाइल कम्पनी के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी शुक्रवार देर रात कार से अपनी एक महिला सहयोगी को छोड़ने उसके घर जा रहे थे, तभी गोमतीनगर विस्तार में चेकिंग कर रहे दो सिपाहियों ने उनको रुकने का इशारा किया और उनके न रुकने पर पुलिस ने विवेक पर गोली चला दी। गोली लगने से विवेक कार पर नियंत्रण नहीं रख सका और उसकी कार आगे जाकर अंडरपास से टकरा गई।

पुलिस के अनुसार घायल को राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचाया गया जहां अधिक रक्तस्त्राव होने के कारण मौत हो गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में विवेक तिवारी की ठुड्ढी में गोली लगने की पुष्टि हो गई है। गोली गर्दन व सिर के बीच में फंसी थी, जिसके कारण अधिक रक्तस्राव से मौत हो गई।

हालांकि विवेक तिवारी हत्याकांड मामले में रविवार को सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, जिसने यूपी पुलिस के दावों की पोल खोलकर रख दी है। घटना के बाद आरोपी पुलिसकर्मियों ने बताया था कि विवेक तिवारी की गाड़ी खड़ी थी। जबकि तस्वीरों में साफ है कि गाड़ी चलती पाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *