अनलकी रहीं सिंधू, आल इंग्लैंड चैंपियनशिप से पहले ही दौर में बाहर

बर्मिंघम:

ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप भारतीय शटलर पी वी सिंधू के लिए अनलकी साबित हुआ। महिला एकल के पहले ही दौर में सिंधू को कड़े मुकाबले में कोरिया की सुंग जी ह्युन के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा।

सिंधू दूसरे और तीसरे गेम में आठ मैच प्वाइंट बचाने के बावजूद अपने कोरियाई प्रतिद्वंदी से 16-21 22-20 18-21 से हार गईं। सुंग जी अगले दौर में हांगकांग की च्युंग एनगान यी से भिड़ेंगी।

सिंधू इस मैच में सुंग जी के खिलाफ आठ जीत और छह हार के रिकार्ड के साथ उतरीं थी लेकिन कोरिया की खिलाड़ी ने एक बार फिर भारतीय खिलाड़ी को परेशान करते हुए 81 मिनट में जीत दर्ज की।

सिंधू ने दूसरे गेम में 17-20 के स्कोर पर तीन मैच प्वाइंट बचाए और मैच को तीसरे और निर्णायक गेम में खींचा। तीसरे गेम में भी सिंधू ने पांच मैच प्वाइंट बचाए लेकिन इसके बाद चौथी बार 10 लाख डालर इनामी इस प्रतियोगिता के पहले दौर में बाहर हो गईं।

संघर्षपूर्ण मुकाबले में हारीं सिंधू

सिंधू और सुंग जी के बीच मुकाबला काफी रोमांचक रहा। भारतीय खिलाड़ी ने 6-3 की बढ़त से शुरुआत की लेकिन सिंधू की गलतियों का फायदा उठाकर सुंग जी ने बराबरी हासिल कर ली।

कोरियाई खिलाड़ी ने इसके बाद दबाव बनाया और सिंधू के नेट पर शाट खेलने के बाद वह ब्रेक के समय 11-8 से आगे थी। सिंधू ने ब्रेक के बाद रैली में दबदबा बनाया और 11-11 पर बढ़त हासिल कर ली। भारतीय खिलाड़ी ने इसके बाद कई गलतियां की जिससे सुंग जी 16-14 से आगे हो गईं। सुंग जी ने इसके बाद चार गेम प्वाइंट हासिल किए और सिंधू के शाट बाहर मारने पर गेम जीत लिया।

दूसरे गेम में सिंधू को जूझना पड़ा जिससे सुंग जीत ने ब्रेक तक 11-8 की बढ़त बना ली लेकिन भारतीय खिलाड़ी वापसी करते हुए स्कोर 13-13 से बराबर करने में सफल रही। सिंधू ने सुंग जीत पर दबाव बनाने की कोशिश की लेकिन कोरियाई खिलाड़ी ने 18-14 की बढ़त बना ली। सिंधू ने इसके बाद स्कोर 17-18 किया लेकिन इसके बाद क्रास कोर्ट स्मैश को बाहर मार गईं। सुंग जी को इसके बाद तीन मैच प्वाइंट मिले। भारतीय खिलाड़ी ने अपने तेज क्रास कोर्ट स्मैश और फिर मैच की सबसे लंबी रैली पर तीन अंक बचाए। सुंग जीत ने नेट पर शाट खेलकर सिंधू को ब्रेक प्वाइंट दिया जिससे भारतीय खिलाड़ी ने विरोधी खिलाड़ी के शरीर पर स्मैश लगाकर जीत लिया।

निर्णायक गेम में दोनों खिलाड़ियों के बीच कुछ अच्छी रैली देखने को मिली। सुंग जी ब्रेक के समय दो अंक से आगे थी। कोरियाई खिलाड़ी ने इसके बाद लगातार चार अंक के साथ बढ़त को 15-9 तक पहुंचाया। सुंग जी ने इसके बाद शाट बाहर मारा लेकिन सिंधू ने अपनी सर्विस पर गलती की और फिर दो और सहज गलतियों के साथ विरोधी को 18-10 की बढ़त बनाने का मौका दे दिया। सुंग जीत ने नेट के समीप बेहतरीन रिटर्न के साथ सात मैच प्वाइंट हासिल किए जिसमें से सिंधू ने पांच बचाए लेकिन यह नाकाफी था।

आज भाग्य ने भी मेरा साथ नहीं दिया : सिंधू

सिंधू ने मैच के बाद कहा, ‘‘मुझे लगता है कि मुझे शुरू में उसे बड़ी बढ़त नहीं लेने देनी चाहिए थी। काफी अंक दे दिए और इसकी भरपाई करना मुश्किल था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘संभवत: मेरा भाग्य ने भी साथ नहीं दिया क्योंकि मेरे स्मैश नेट पर लग रहे थे। मैं बाहर मार रही थी लेकिन कुल मिलाकर यह अच्छा मैच था और वह अच्छा खेली।’’ सिंधू ने कहा, ‘‘मैंने पर्याप्त ट्रेनिंग की थी लेकिन आज का दिन मेरा नहीं था। ऐसे मैच होते रहते हैं और मुझे इस चुनौती के रूप में लेना होगा और मजबूत वापसी करनी होगी।’’

भारतीय खिलाड़ियों के अन्य मुकाबले

भारतीय खिलाड़ियों के अन्य मुकाबले में पुरुष एकल में 2017 सिंगापुर ओपन चैंपियन बी साई प्रणीत ने हमवतन भारतीय एचएस प्रणय को करीबी मुकाबले में 21-19 21-19 से हराया। महिला युगल में मेघना जक्कमपुडी और पूर्विशा एस राम की जोड़ी को कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद एकातेरिना बोलतोवा और एलिन देवेलतोवा की रूस की जोड़ी के खिलाफ 21-18 12-21 12-21 से हार का सामना करना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *