अमेरिका ने तालिबान के साथ अफगानिस्तान शांति वार्ता भंग की

वाशिंगटन:

अमेरिका और तालिबान के बीच चल रहे शांति वार्ता अंतिम नतीजे पर पहुंचे बगैर खत्म कर दी गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शांति वार्ता के समाप्त होने की घोषणा की। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि तालिबान के साथ लंबे समय से चल रही अफगानिस्तान शांति वार्ता का अंत हो गया है। उन्होंने कहा कि अमेरिका ने पिछले चार दिनों में तालिबान पर जितने कठोर प्रहार किए हैं उतने पिछले 10 वर्षों में नहीं किए गए।

ट्रंप ने व्हाइट हाउस में सोमवार को संवाददाताओं से कहा, ‘‘ उसका (तालिबान के साथ वार्ता) अंत हो चुका है। जहां तक मेरा सवाल है, वह समाप्त हो चुकी है।’’

ट्रम्प ने शनिवार को यह कह कर दुनिया को सकते में डाल दिया था कि उन्होंने तालिबान और अफगानिस्तान के नेताओं के साथ ‘कैम्प डेविड’ में होने वाली गोपनीय बैठक रद्द कर दी है।

अमेरिका ने यह कदम काबुल में पिछले सप्ताह हुए हमले की जिम्मेदारी तालिबान द्वारा लेने के बाद उठाया है। इस हमले में अमेरिका का एक सैनिक भी मारा गया था।

वार्ता रद्द करने के फैसले के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा, ‘‘ उन्होंने (तालिबान) सोचा कि बातचीत में खुद को बेहतर स्थिति पर रखने के लिए उन्हें लोगों को मारना होगा…वह मेरे साथ ऐसा नहीं कर सकते।’’

ट्रंप ने कहा, ‘‘जहां तक मेरी बात है तो मेरे लिए वे समाप्त हो चुके हैं। हमने पिछले चार दिनों में तालिबान पर जितने कठोर प्रहार किए हैं उतने पिछले 10 वर्षों में नहीं किए।’’

उन्होंने कहा कि तालिबान ने गलती कर दी। हम निकलना (अफगानिस्तान से) चाहते थे, लेकिन हम उचित समय पर ही जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *