मनी लांड्रिंग मामले में ईडी के समक्ष वड्रा की लग सकती है हाजिरी, भाजपा ने बोला हमला

नई दिल्ली:

कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष और यूपीए संयोजक सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वड्रा मनी लांड्रिंग से जुड़े मामले में बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष होने की खबरों के बीच भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर हमला बोला है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि वड्रा को 2008-09 में पेट्रोलियम एवं रक्षा सौदे से लाभ पहुंचाया गया जब कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार केंद्र में सत्ता में थी।

प्रवर्तन निदेशालय के आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक कथित रूप से गैरकानूनी तरीके से विदेशों में संपत्तियां रखने के मामले में बुधवार शाम को वाड्रा से पूछताछ हो सकती है। मामला लंदन में 12 ब्रायनस्टन स्कावयर पर 19 लाख पाउंड की संपत्ति की खरीद में कथित रूप से मनी लांड्रिंग जांच से संबंधित है।

वाड्रा ने इस मामले में अग्रिम जमानत के लिए दिल्ली की अदालत की दरवाजा खटखटाया था। अदालत ने उन्हें निर्देश दिया था कि वह केंद्रीय जांच एजेंसी से जांच में सहयोग करें। सूत्रों ने कहा कि जब वाड्रा एजेंसी के समक्ष पेश होंगे तो उनसे लंदन में कुछ अचल संपत्तियों की खरीद और स्वामित्व से संबंधित सौदों के बारे में पूछा जाएगा। उनका बयान मनी लांड्रिंग रोधक कानून के तहत दर्ज किया जाएगा।

दिल्ली की एक अदालत ने वाड्रा को 16 फरवरी तक अंतरिम जमानत दी है। अदालन ने उन्हें निर्देश दिया है कि वह छह फरवरी को स्वयं उपस्थित होकर जांच में शामिल हों।

भाजपा ने कहा वड्रा को काले धन को सफेद करने के एवज में “मोटी रकम” मिली

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि वड्रा को 2008-09 में पेट्रोलियम एवं रक्षा सौदे से लाभ पहुंचाया गया जब संप्रग सरकार सत्ता में थी। यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के जीजा वड्रा ने इस राशि का इस्तेमाल लंदन में कई करोड़ रुपये मूल्य की पॉश संपत्तियों को खरीदने के लिए किया।

कई ई-मेल का हवाला देते हुए पात्रा ने आरोप लगाया कि वड्रा की कंपनी को कई ऐेसी कंपनियों से “मोटी रकम” प्राप्त हुई जिनका गठन “काले धन को सफेद में बदलने” के लिए हुआ था।
उन्होंने कहा, “2019 के लोकसभा चुनाव भ्रष्टाचार के गिरोहों बनाम नरेंद्र मोदी सरकार की पारदर्शिता के बीच जंग है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *