डेंगू के खिलाफ दुनिया की पहली दवा अगले दो सालों में बाजार में आएगी : आयुष मंत्रालय

  • भारत अगले दो सालों में डेंगू के खिलाफ दुनिया की पहली दवा बाजार में उतारेगा
  • यह आयुर्वेदिक दवा होगी
  • यह आयुर्वेदिक दवा क्लीनिकल परीक्षण के तीसरे एवं अंतिम चरण में
  • आयुष मंत्रालय और आईसीएमआर मिलकर इस पर कर रहे हैं काम

नई दिल्ली:

अगले दो सालों में भारत डेंगू का इलाज कर सकने में सक्षम दुनिया की पहला दवा मार्केट में उतार देगा। आयुष मंत्रालय ने बताया कि डेंगू का इलाज करने वाली आयुर्वेदिक दवा क्लीनिकल परीक्षण के तीसरे एवं अंतिम चरण में है और इसे अगले दो सालों में बाजार में उतारा जाएगा।

आयुष सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने बताया कि आयुष (आयुर्वेद, योग, प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध , सोवा रिगपा और होम्योपैथी) मंत्रालय एवं भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) मिलकर इस पर अनुसंधान कर रहे हैं।

कोटेचा ने मंत्रालय की 100 दिनों की उपलब्धियों पर एक संवाददाता सम्मेलन के अवसर पर कहा, ‘‘ अनुसंधान क्लीनिकल परीक्षण के तीसरे (अंतिम) चरण में है। यह अगले दो सालों में पूरा कर लिया जाएगा। इसके पूरा हो जाने के बाद यह डेंगू के खिलाफ दुनिया की पहली दवा होगी।’’

यह दवा भारत में उगने वाले कई प्रकार के औषधीय पौधों से तैयार की गयी गयी है और इसे अगले दो सालों में गोली के रूप में बाजार में उतारे जाने की संभावना है।

इस दवा का नाम, इसे कैसे बेचा जाएगा — काउंटर पर या डॉक्टर की सलाह पर, जैसी चीजें तय होनी बाकी है। आईसीएमआर और मंत्रालय की टीम को डोज के मानकीकरण का काम भी करना होगा तथा उसमें उपयोग आने वाली हर जड़ी-बूटी का अनुपात भी निश्चित करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *